[khatushyamakhara@gmail.com] 9079722155, 9634271639

About

हमारा उद्देश्य

बर्बरीक सेना : खाटू श्याम जी का पुराना नाम बर्बरीक है। उन्ही के नाम पर संत सुरक्षा बर्बरीक सेना का नाम रखा गया है। समाज के अंदर लोगों के प्रति जो अनर्थ हो रहा है। उसके लिए बर्बरीक सेना आवाज उठाती है।


एवं हमारे संतो, महंतो, एवं धर्माचार्यों के साथ जो आए दिन उनकी दुष्टों के द्वारा असामाजिक तत्वों के द्वारा जो मौत हो रही है। उनके लिए बर्बरीक सेना आवाज उठाती है। एवं हमारी बहनों और माताओं को लव जिहाद मैं कुछ अधर्मी दूसरे धर्म वाले उनके लिए बर्बरीक सेना संघर्ष दिन रात करती है। एवं जिन बाहुबलियों ने संतो की, मठ मंदिरों की जमीन एवं मठों पर कब्जा और अपना स्वामित्व दिखाते है। बर्बरीक सेना उनसे लड़ने को मठ मंदिरों को उनके कब्जे से छुड़ाने को तत्पर रहती है।.


मुख्य उद्देश्य : हारे का सहारा खाटू श्याम अखाड़ा Planning : परम श्रद्धेय श्री गिरधर जी महाराज बाबा श्याम के अनन्य भक्त है। बाबा श्याम ने एक दिन स्वप्न में उनको दर्शन दिया। उनसे कहा कि मेरे लिए कुछ कर, बाबा ने बताया जगह - जगह मेरे मंदिरों का निर्माण करा। बाबा के कहने के अनुसार श्री गिरधर जी महाराज 108 मंदिरों का निर्माण पूरे देश में करने के लिए निकल चुके हैं। खाटू श्याम अखाड़ा विश्व का पहला अखाड़ा है। जो किसी संप्रदा से मतलब नहीं रखता है। जो बाबा श्याम की छत्रछाया में आ जाता है। वह बाबा श्याम का हो जाता है। जो दुनिया से ठुकराए हुए सन्तों को कोई नहीं पूछता है। वह बाबा श्याम के अखाड़ा मैं आ जाता है। वह अपने आपको धन्य मानता है। अखाड़े के अन्दर संतो को, साध्वियों को उपाधियां भी प्रदान की जाती है। जैसे जगतगुरु, महामंडलेश्वर, श्री महंत, प्रचार मंत्री, थानापती, इत्यादि. जो भी संत, महंत, योगी, अखाड़े से जुड़ना चाहते है। वह यथाशीघ्र संपर्क करें.


108 मंदिरों का निर्माण : जिसमे की मंदिर का निर्माण करने के लिए 1.5 बीघा भूमि की आवश्यकता होती है। जो भी बाबा श्याम के प्रेमी, भक्तगण अपने यहां पर श्याम बाबा का मंदिर निर्माण कराना चाहते है। वह जल्द से जल्द संपर्क करें, दानवीर द्वारा भूमि देने के पश्चात मंदिर निर्माण बाबा श्याम अखाड़ा द्वारा किया जाएगा.


खाटू श्याम कथा : जो भी भक्तगण अपने यहां खाटू श्याम जी कथा एवं संकीर्तन निशुल्क कराना चाहते वह जल्द संपर्क करें.